Loading...

Stvnews Online

#क्राइम न्यूज़ #देश-दुनिया #पॉलिटिक्स #राजस्थान #राज्य #वायरल विडियो #हेल्थ एंड फिटनेस

सरस डेयरी में भ्र्ष्टाचार की खुलेंगी परते ?.#sarasdairy #vishramgurjar #bannarammeena #tikaramjully

अलवर सरस डेयरी के चेयरमैन विश्राम गुर्जर बन गए हैं। जो पूर्व प्रधान शिवलाल गुर्जर के बेटे हैं। पहले सरपंच भी रह चुके हैं। चेयरमैन के चुनाव के नामांकन वापसी के आखिरी समय रामफल गुर्जर ने अपना पर्चा वापस ले लिया। इस कारण विश्राम गुर्जर निर्विरोध चेयरमैन बन गए हैं। विश्राम डेयरी के सबसे युवा चेयरमैन हैं। करीब डेढ़ साल के बाद अलवर सरस डेयरी को चेयरमैन मिला है। पूर्व चेयरमैन बन्नाराम मीणा को कई तरह की अनियमितताओं के आरोप में बर्खास्त कर दिया गया था। उसके बाद अब चुनाव हुए हैं। जिसमे विश्राम गुर्जर निर्विरोध चेयरमैन बने इन पर पूरा राजनैतिक वृद्धहस्त रहा है , विश्राम गुर्जर ने आते ही सरस डेयरी में सप्लाई होने वाले मिलावटी दूध के खिलाफ अभियान छेड़ कर वाहवाही लूटी और अनेकों टैंकर मिलावटी दूध के पकड़ कर पेनल्टी लगाई गई इतना ही नहीं अलवर जिले में अनेकों जगहों पर सरकारी टीम के साथ दबिश देकर मिलावटी दूध और पनीर पकड़ा , विश्राम गुर्जर का कहना था वह जब तक है दूध में मिलावट बर्दाश्त नहीं करेंगे । लेकिन इस बार पकड़े गए मामले में खुद विश्राम गुर्जर सवालों के घेरे में है इस बार दूध सप्लाई के टैंकर में तौल के समय कांटे पर चिप लगाकर वजन बढ़ाने का मामले में चेयरमैन के निजी पीए सौरभ गॉड पर आरोप लग रहे है

सरस डेयरी हमेशा राजनैतिक रूप से चर्चाओं में रही है ,यहां विश्राम गुर्जर से पहले चेयरमैन रहे बन्ना राम मीणा भी विवादो में रहे उन पर सरकारी धन के दुरुपयोग के आरोप लगे थे , जिसके चलते उन्हें पद से बर्खास्त होना पड़ा था ,

दरअसल सरस डेयरी भ्रष्टाचार नामक दीमक की भेंट चढ़ चुका है जो उसे धीरे धीरे खोखला करती जा रही है जब यहां विश्राम गुर्जर चेयरमैन बन कर आए और जिस अंदाज में उन्होंने मिलावटी दूध के खिलाफ ताबड़ तोड़ कार्यवाही की उससे एक उम्मीद जगी थी शायद डेयरी की साख पर लगा धब्बा शायद अब धूल जायेगा लेकिन यह उम्मीद भी खत्म होती जा रही है क्युकी इस बार पकड़ी गई चोरी में चेयरमैन विश्राम गुर्जर के पीए सौरभ गॉड शक के घेरे में है ऐसे में चेयरमैन को जवाब तो देना ही पड़ेगा , इसलिए उनके विरोधी उनकी मिली भगत के आरोप लगा रहे है। मंगलवार को डेयरी संघ से जुड़े कुछ लोगो ने निलेश खंडेलवाल के नेतृत्व में सरस डेयरी पर प्रदर्शन करते हुए मुख्यमंत्री के नाम एमडी को ज्ञापन सौपा और इस मामले की जांच कर जो भी आरोपी हो उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही किए जाने की मांग की है ।

दरअसल कुछ दिन पूर्व सरस डेयरी में एक बड़ी चोरी पकड़ी गई जिसमे दूध के तोलने वाले कांटे पर चिप लगाकर दूध के वजन को बढ़ाया गया वह भी हजारों लीटर , यह तो एक टैंकर का मामला था जबकि ऐसे अनेकों टैंकर रोजाना आते होंगे और संभावना है रोजाना सबमें यही खेल होता है तो सरस डेयरी को रोजाना लाखो का चूना लगाया जा रहा था , लेकिन इसका खुलासा भी खुद चेयरमैन विश्राम गुर्जर ने किया था , उन्होंने मीडिया को बताया कि उन्हें तोल में गड़बड़ी की सूचना मिली जिसके बाद एमडी को निर्देशित कर टैंकर का तौल पुनः कराने के निर्देश दिए तो दूध की इस बड़ी चोरी का खुलासा हुुआ , फिर एक बार विश्राम गुर्जर ने भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्यवाही का सेहरा अपने सर बांधा ।

लेकिन जब इसकी जांच आगे बढ़ी तो इसकी आंच चेयरमैन तक ही जा पहुंची दरअसल जांच में सीसीटीवी की जब फुटेज खंगाले गए तो उसमे तौल के समय विश्राम गुर्जर के निजी पीए की संदिग्ध भूमिका नजर आई जो कभी कांटे पर तुल रहे टैंकर की तरफ आता तो कभी अंदर केबिन आ जाता उसकी यह सारी गतिविधि सीसीटीवी में कैद हो गई ,

अब भ्रष्टाचार के शक की सुई किसी और दिशा में घूमने लगी , अब सारा मामला खुलने के बाद एमडी डॉक्टर राकेश विजय को भी जान से मारने की धमकी दी जाने लगी , जिसकी शिकायत एमडी ने अरावली विहार थाने में दर्ज कराई है ,उधर पुलिस भी इस संदर्भ में जांच कर रही है एसपी अलवर आनंद शर्मा ने बताया इस मामले में एसआईटी का गठन कर जांच पूरी की कर कि जो भी सामने आएगा उसी के अनुसार आगे की कार्यवाही की जाएगी ।

कुल मिलाकर सरस डेयरी में लगी भ्रष्टाचार रूपी दीमक को खत्म करने के लिए जरूरी है इस मामले की जांच निष्पक्ष हो और जो भी इसमें आरोपी हो उनके खिलाफ कार्यवाही होनी चाहिए ताकि सरस डेयरी के साख के साथ ही इसमें बनने वाले प्रोडक्ट पर जनता का भरोसा बना रहे ।

1

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!