Loading...

Stvnews Online

#Uncategorized #क्राइम न्यूज़ #देश-दुनिया #राज्य

आईएएस की पत्नी की हत्या पर रोने वाला ही निकला हत्यारा

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में रिटायर्ड IAS के घर में लूट के बाद उनकी पत्नी मोहिनी दुबे का कत्ल मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है , पुलिस को छानबीन में हत्यारे एक नीले रंग की स्कूटी सीसीटीवी में नजर आए थे , इसी आधार पर पुलिस ने शहर की सौ से ज्यादा नीली स्कूटियो की छानबीन की , सैकड़ो सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली पुलिस आरोपी को शहर में अलग अलग ठिकानों पर ढूंढती रही लेकिन कातिल पुलिस की नाक के नीचे ही बैठा था , हत्या के बाद वह आंसू भी बहा रहा था । (Lucknow Murder Case) पुलिस ने इसका खुलासा करते हुए उनके घर में काम करने वाले दो ड्राइवर भाइयों समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है…..

लखनऊ में रिटायर्ड आईएएस के घर में हुई इस वारदात में उनकी पत्नी की हत्या के साथ ही एक करोड़ रुपए के जेवरों की लूट की गई थी. हैरानी की बात यह है कि इस वारदात को रिटायर्ड IAS के भरोसेमंद ड्राइवर अखिलेश ने ही अपने दोस्त रंजीत संग मिलकर अंजाम दिया. लूट और हत्या की साजिश उसने 15 दिन पहले ही रच डाली थी. ड्राइवर के भाई रवि ने भी इस वारदात में पूरा साथ दिया. हत्या और लूट की गुत्थी को सुलझाने के लिए पुलिस को भी खूब मशक्कत करनी पड़ी. मोहिनी दुबे के हत्यारों तक पहुंचने के लिए पुलिस ने शहर भर की 1060 नीली स्कूटियां चेक की थीं.

जांच में सामने आया आरोपी क्राइम सीरियल्स के दीवाने थे. उन्होंने क्राइम सीरियल देखकर ही मोहिनी की हत्या के बाद सबूत मिटाने की कोई कोर कसर नहीं छोड़ी. ड्राइवर अखिलेश और उसके दोस्त रंजीत ने अपने फिंगर प्रिंट मिटाने के लिए दरवाजों और अलमारी की कुंडी तक से निशान गीले कपड़े से पोंछ दिए, ताकि कोई उन तक पहुंचे ही नहीं. उनके जूते के निशान किसी को न मिलें, इसके लिए उन्होंने फर्श पर पोंछा तक लगा दिया. यहां तक कि अलमारी के भीतर रखे ज्वैलरी बॉक्स को भी गीले कपड़े से पोंछ दिया. लेकिन पुलिस के हाथ आरोपियों तक पहुंच ही गए.

घटना के दिन सुबह मोहिनी के पति देवेंद्र नाथ ड्राइवर अखिलेश के भाई रवि के साथ गोल्फ खेलने क्लब गए हुए थे. इसी दौरान उनके ही भरोसेमंद ड्राइवर अखिलेश ने अपने दोस्त रंजीत के साथ मिलकर मालकिन को मौत के घाट उतार दिया.
कत्ल और लूट को अंजाम देने के बाद आरोपी नीली रंग की स्कूटी से फरार हो गए थे , आईएएस जब घर लौटे तो पत्नी का शव पड़ा देखकर सन्न रह गए. इसके बाद रवि ने ही डायल 112 पर कॉल करने की कोशिश की. वहीं इस बीच अखिलेश भी वापस घर पहुंच गया और आंसू भरी आंखों के साथ पुलिस चौकी जाकर खुद ही मालकिन की हत्या की जानकारी पुलिस को दी. लेकिन सीसीटीवी कैमरों की मदद से पुलिस आरोपियों तक पहुंचने में कामयाब रही.

बताया जा रहा है मृतका मोहिनी घर पर बिना किसी जान पहचान के आने वाले के लिए दरवाजा नही खोलती थी लेकिन जब उनका ड्राइवर अखिलेश आया तो मोहिनी ने दरवाजा खोल दिया जिसके बाद यह हत्या और लूट की वारदात हुई ।

0

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!